रोमिंग जर्नलिस्ट

शुक्रवार, 14 सितंबर 2012

माँ इंडिया चली जाओ,मुझे मरने को छोड़ दो



दिनेश चंद्र मिश्र
लखनऊ। माँ मुझे मेरे हाल पर छोड़ दो और इंडिया चली जाओ ताकि मैं आसानी से मर सकूं। ये लोग मुझे ब्लैक मेल कर रहे हैं की अगर मै खाना नहीं खाऊंगी तो मेरे पूरे परिवार को खत्म कर देंगे मुझे बन्दूक की नोक पर दिन में एक बार खाना खिलाया जाता है। मियां मिठ्ïठू (पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सांसद)ने कहा कि जब घोटकी कोर्ट में मेरे रिश्तेदार मुझे नहीं बचा सके तो सुप्रीम कोर्ट और पुनर्वास केंद्र मुझे क्या बचा पाएंगे। मैंने कहा न मंै कभी मुस्लिम थी न कभी बनूंगी,ये लोग जबरन मुझे गाय का मांस खाने में देते हैं पर मै फेंक देती हूं। मैं जिंदा रहने भर को शाकाहार लेती हूं, माँ प्लीज मुझे बताओ कि आप कब इंडिया जा रही हो ताकि मैं आसानी से मर सकूं। 
यह दर्दभरा पैगाम है २२ साल की रिंकल का। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मीरपुर मथेलो की रिंकल कुमारी का फरवरी में अपहरण करने के बाद उसका धर्म परिवर्तन कराकर उसे मुसलमान बनाया गया फि र 24 फ रवरी को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सांसद मियां मिठ्ïठू के कारिंदे नावीद शाह नामक युवक से उसकी शादी करा दी गई। रिंकल मां-बाप के पास जाना चाहती है, मामला पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में गया लेकिन वहां से भी इंसाफ  नहीं मिला है। सुप्रीम कोर्ट ने रिंकल को फिलहाल संरक्षण गृह भेज दिया है। संरक्षण गृह के नाम पीपीपी सांसद के घर पहुंच गयी रिंकल ने अपनी मां के मोबाइल पर यह एसएमएस भेजा। रिंकल के इस पैगाम को पाकिस्तान हिंदू सेवा वेलफेयर ट्रस्ट ने सोशल नेटवर्किंग साइट्ïस पर रोमिंग जर्नलिस्ट के नाम से मौजूद इस खबरनवीस के साथ शेयर किया है। गौरतलब है रिंकल के जबरन धर्म परिवर्तन व कथित निकाह की खबर को दुनियाभर की मीडिया में जगह मिली लेकिन भारत सरकार के लचर रुख के कारण इस लडक़ी को न्याय नहीं मिल सका। पाकिस्तान हिंदू काउंसिल की मंगला शर्मा ने रिंकल ने जो एसएमएस अपनी मां को संबोधित करके भेजा है, उसको इस खबरनवीस के साथ शेयर करते हुए पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ हो रहे इंसाफ  के हाल को बताया है। रिंकल ने अपनी मां को जो एसएमएस से संदेश भेजा है उसमें आगे लिखा है माँ मंै मरना चाहती हूँ पर भगवान मुझे इसकी भी इजाजत नहीं दे रहे हैैं, मुझे पता चला है कि मेरे भाई कि शादी हो गई है, मेरी बदकिस्मती देखो कि मै अपने इकलौते भाई कि शादी में सेहरा तक नहीं गा सकी जबकि मैंने कितने सपने सजाए थे पवन  की   शादी को लेकर, माँ कितना प्रयास करने पर भी आप मुझे बचा नहीं पाएं, मै मीडिया के सामने कितना गिड़गिड़ाई कि ये देश कट्टर मुस्लिमों का है हिन्दुओं  को यहाँ न्याय कभी नहीं मिलेगा। माँ मै कल भी आपकी थी और हमेशा आपकी ही रहूंगी, भले ही अपहरणकर्ता मेरे शरीर पर कब्जा कर ले पर मेरी आत्मा 
सदैव मरते दम तक आपकी ही रहेगी। रिंकल के दर्दभरे इस संदेश को पाकिस्तान सरकार द्वारा सुने नहीं जाने के कारण पाकिस्तान हिंदू काउंसिल ने इस खबरनवीस को भेजा ताकि भारत सरकार की आंख खुल सके कि पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ क्या हो रहा है। उधर रिंकल को अगवा करके जबरन निकाह करने की घटना के बाद उसके मनोहर हिन्दुस्तान आ गए हैं। उनका कहना है कि मुझे कई बार लूटा गया पर मेरे पास और कोई चारा नहीं था। सरकार और पुलिस ने भी साथ नहीं दिया। उनका कहना है पाकिस्तान में हिंदुओं की नाबालिग लड़कियों का अपहरण करके जबरन धर्मांतरण के बाद निकाह किया जाना आम बात हो गई है। 

3 टिप्‍पणियां:

रश्मि ने कहा…

बहुत बुरा हो रहा है रिंकल के साथ...उसे भारत वापस लाने के लि‍ए हमें प्रयास करना चाहि‍ए..

Shailendra Pandey ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Ravindra Kumar ने कहा…

rinkal ko inshaaf milana chhahiye iske liye

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.